मुंबई: 1993 में हुए बम धमाकों के मामले की सुनवाई कर रही टाडा अदालत ,

1993 में मुंबई में हुए बम धमाकों के मामले की सुनवाई कर रही टाडा अदालत आज अहम फ़ैसला सुनाते हुए अबू सलेम समेत 6 अभियुक्तों को दोषी करार दिया है.

अदालत ने ताहिर मर्चेंट, मोहम्मद दोसा, फिरोज अब्दुल राशिद खान और करीमुल्लाह को भी दोषी करार दिया है.

सलेम को कोर्ट ने आपराधिक साजिश में शामिल होने का दोषी पाया है. उन्हें ‘आतंकवाद संबंधित गतिविधियों’ का भी दोषी पाया गया है.

अदलात कुल सात अभियुक्तों पर सुनवाई कर रही थी जिनमें से एक को बरी किया गया है.

993 धमाके के मुक़दमे का सबसे पहला और अहम फ़ैसला 2006 मे आया था. तब 123 अभियुक्तों में से 100 को सज़ा सुनाई गई थी और 23 को बाइज़्ज़त बरी कर दिया गया था. जिन अभियुक्तों को सज़ा सुनाई गई थी उनमें फ़िल्म स्टार संजय दत्त भी शामिल थे.

इसी फ़ैसले में याक़ूब मेमन को फांसी की सज़ा सुनाई गई थी. याक़ूब 1993 धमाकों में वांटेड टाइगर मेमन के भाई थे. याक़ूब मेमन को 30 जुलाई 2015 को महाराष्ट्र के यरवडा जेल में फांसी दी गई थी.

किन इन सात अभियुक्तों का फ़ैसला तब नहीं हो पाया था. दरअसल साल 2006 में टाडा अदालत ने इस केस को दो हिस्सों में बांटा था- पार्ट ए और पार्ट बी. कोर्ट को इसलिए ऐसा करना पड़ा क्योंकि इन सात अभियुक्तों को 2002 के बाद विदेश से प्रत्यर्पित किया गया था जबकि केस की सुनवाई 1995 से चल रही थी.

कोर्ट का मानना था कि इन सातों की सुनवाई भी अगर साथ में होगी तो फ़ैसला आने में और देर होगी. इसलिए इन सातों की सुनवाई अलग से शुरू की गई.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *