भारत; प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कज़ाकस्तान में आठ और नौ जून को होने वाली शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में हिस्सा लेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कज़ाकस्तान में आठ और नौ जून को होने वाली शंघाई सहयोग संगठन की बैठक में हिस्सा लेंगे.

कज़ाकस्तान मध्य एशिया का बहुत महत्वपूर्ण देश है और पारंपरिक रूप से भारत के साथ उसके रिश्ते बहुत अच्छे रहे हैं.

अगर भारत मध्य एशिया में अपनी स्थिति मजबूत करना चाहता है तो कज़ाकस्तान एक नैचुरल पार्टनर हैं. मोदी 2015 में भी कज़ाकस्तान का दौरा कर चुके हैं.

उस समय भी कुछ महत्वपूर्ण समझौतों पर रजामंदी बनी थी. ये समझौते ऊर्जा और खनिज स्रोतों से जुड़े थे. इन दोनों ही क्षेत्रों में कज़ाकस्तान केंद्रीय भूमिका निभा रहा है.

ख़ासकर परमाणु ऊर्जा के सवाल पर कज़ाकस्तान से यूरेनियम सप्लाई पर भी बात हुई थी. इस सिलसिले में पहली डील भारत ने कज़ाकस्तान के साथ ही की थी.

रणनीतिक लिहाज से भी कज़ाकस्तान की बड़ी अहमियत है. अमरीका और रूस दोनों की ही उसमें दिलचस्पी है.

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *