ब्रेकिंग कुशीनगर:-जनपद कुशीनगर में सक्रिय भूमिका अदा करने वाले पूर्व स्वाट प्रभारी व वर्तमान

:-

अभी कच्ची पर मेहरबान हैआबकारी बिभाग

नगर निकाय चुनाव में बहार थोक भाव में 24 सों घण्टा हरपुर बरवां गांव में बनता और बिक रहा है कच्ची शराब।

कुशीनगर।जनपद कुशीनगर में  सक्रिय भूमिका अदा करने वाले पूर्व स्वाट प्रभारी व वर्तमान थानाध्यक्ष कप्तानगंज के चर्चित गांव हरपुर बरवां में एक दर्जन से अधिक घरों में आज भी शराब बन और बिक रहा है।
ग्राम प्रधान को इन कच्ची शराब निर्माताओं ने जीत दर्ज कराइ है जिसके चलते हरपुर बरवां गांव के ग्राम प्रधान जी उन लोगो के खिलाफ कुछ भी नहीं बोल सकते।आबकारी और यूपी पुलिस को अवैध शराब के कारोबार से लाखों का नुकसान भले होता हो ,इससे बाद भी प्रधान जी कुछ भी नहीं बोल सकते।

शराब गरीब लोग बनाते है और मजदुर लोग अधिक पीते है पियेंगे तो मजबूर लोग ही मरेंगे।उनके परिजन कर्ज़ा लेने इनके घर जायेंगे इसी से बड़े लोगो का लाभ भी इन स्तर के लोगो से होता है गरीबो का उत्थान सरकार की प्राथमिकता।

इस कच्ची शराब के सेवन से गांव के आधे दर्जन से अधिक लोग असमय ही काल के गाल में समा चुके है*।
पिछले वर्ष 2016 में इन धंधे बाजों के बिरुद्ध जिला आबकारी अधिकारी को निषाद पार्टी के नेता के एक दिए गए ज्ञापन के बाद हरकत में आया बिभाग ने एक अभियान चलाकर अबैध शराब निर्माताओं को पकड़वाने का प्रयास किया किन्तु कोई पकड़ में नहीं आया। सिर्फ लहन नस्ट हुआ और शराब बरामद हुआ। उसके बाद से किसीअधिकारी ने इन धंधे बाजों को टच तक नहीं किया।
थाना कप्तानगज क्षेत्र का यह गांव सबसे बदनाम गांव है जहाँ किसी भी समय शराब और मारपीट गाली गल्लोज़ अधिक होता है सबसे ज्यादा परेशांन इस गांव के गरीब तबके महिलाये होंगी और शराब बनाने वाली सबसे अधिक महिलाये ही है।
हरपुर बरवां के निषाद पार्टी के नेता श्री राजेन्द्र निषाद ने कहा की इस गांव का अबैध शराब का कारोबार बन्द नहीं हुआ तो इस गांव में बिधवावों की संख्या  बढ़ेगी।
इस गांव के उन पिछड़ी जाति के लोगों का जो अस्तित्व है उसका क्या होगा?
भगवान ही मालिक है
सबसे अधिक शराब का सेवन कमजोर और मध्यम वर्ग मजदूर ही घटक घटक कर पीता है जिसका उदाहरण हर गांव का नया शॉन शौकीन वाले युवा वर्ग सिगरेट और जहरीली शराब का सेवन करके लड़ते है। उलझनों की झेल और तबाही से तंग ही लोग होते है गांव के गली और अँधेरे में रात -रात भर घूमने वाले और शराब पीकर गांव में किसी को गाली देने वालो की संख्या वढती ही जा रही है।
इसको लेकर पुलिस को एक अभियान चलना चाहिए।

के एन साहनी
न्यूज 24आई
जोनल हेड गोरखपुर

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *