ब्रेकिंग कुशीनगर:-आधार साफ्टवेयर में छेड़छाड़ करके फर्जी तरीके से आधार कार्ड बनाने व साफ्टवेयर बेचने वाले गिरोह का पर्दाफास

 

पुलिस अधीक्षक कुशीनगर  यमुना प्रसाद के निर्देश के क्रम में जनपद कुशीनगर में अपराध एवं अपराधियों के विरुध चलाये जा रहे अभियान के तहत अपर पुलिस अधीक्षक  हरगोविन्द मिश्र के पर्यवेक्षण में क्षेत्राधिकारी श्चन्द के नेतृत्व में थाना को0 पड़रौना में पंजीकृत मु0अ0स0 423/2017 धारा 419/420/120बी भादवि0 व 34/38/39 आधार एक्ट व 43ए/65/66एफ(बी)66(2)70 सी/72 आईटी एक्ट बनाम अज्ञात की विवेचना में प्रभारी निरीक्षक को0 पड़रौना मय हमराही व स्वाट टीम द्वारा आज दिनांक 19.06.2017 को मुखबिर की सूचना ,एवं यूआईडीएआई0 से तकनीकी सहायता के आधार पर 06 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया जिन्होने पूछताछ में बताया गया कि शैलेन्द्र कुमार चतुर्वेदी जो अनामिका कम्यूटर मरदह में आधार कार्ड बनाया जाता है जो साकेत एडवरटिजमेंट प्राइवेट लि0 से फ्रेन्चाईजी लिया था जो आधार कार्ड बनाने का काम करती थी साकेत एडवरटिजमेंट के अरविन्द मौर्या द्वारा यू0आई0डी0ए0आई0 सी0एस0सी (नान स्टेट रजिस्ट्रार) से जारी हुई थी। माह अप्रैल में यू0आई0डी0ए0आई0 ने बड़े पैमाने पर इनरोलमेण्ट एजेन्सीज को बन्द कर दिया था और नया इनरोलमेण्ट वर्जन लान्च किया जिसमें कई एडवान्सड सिक्योरिटी फीचर्स थे इसी क्रम में अनामिका कम्पयूटर, साई कम्यूनेकशन मरदहा, चन्द्रा जनसेवा केन्द्र मरदहा आदि बहुत सारे केन्द्र बन्द हो गये। लगभग 300 से 400 ऑपरेटर साकेत एडवरटिजमेंट के माध्यम से सी0एस0सी0 से जुड़े हुए थे जो बन्द हो गये थे। इस दौरान अरविन्द कुमार मौर्या साकेत एडवरटिजमेंट को छोड़कर हाईवे कन्सट्रक्सन नामक इनरोलमेन्ट एजेन्सी में आ गया था। जो एन0एस0डी0एल0 (नान स्टेट रजिस्ट्रार) से रजिस्टर है। अब अरविन्द मौर्या ने सभी बन्द हुए ऑपरेटर से सम्पर्क किया और कहाँ कि मै तुम्हारा इनरोलमेण्ट साफ्टवेयर बदल कर पुनः चालु कर दुंगा जिसके लिए 2000 रू0 लगेगें। इसी क्रम में अनामिका कम्प्यूटर मरदह के मालिक शैलेन्द्र कुमार चतुर्वेदी ने अरविन्द से सम्पर्क करके अपने इनरोलमेण्ट को चालू करने को कहाँ इसी क्रम में शैलेन्द्र चतुर्वेदी से बात तय होने पर एक दिन अरविन्द मौर्या ने उसके कम्प्यूटर को एनीडेस्क पर लेकर साप्टवेयर को क्रेक करके मैनूपुलेटेड साफ्टवेयर अपग्रेड किया जिसमें बायोमेट्रिक बाईपास, आईडी बाईपास, जी0पी0एस0 लोकेशन बाईपास आदि फीचर्स थे। इस क्रैक्ड साफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हुए शैलेन्द्र चतुर्वेदी लोगों का आधार नामांकन कार्य कर रहा था। जब यह अपग्रेडेशन शैलेन्द्र चतुर्वेदी के कम्प्यूटर पर हो रहा था उस समय आनन्द सिंह भी मौजूद था जो कि कम्प्यूटर की जानकारी रखता है और शैलेन्द्र चतुवेर्दी के साथ यू0आई0डी0ए0आई0 का इक्जाम दिया था और पास किया था। आनन्द सिंह, रामचन्द्र यादव के चन्द्रा कम्प्यूटर सेन्टर मरदह गाजीपुर और अनूज विश्वकर्मा के साई कम्प्यूटर पर काम कर कहा था । साफ्टवेयर के अपग्रेडेशन के समय आनन्द सिंह उस अपग्रेडेशन की कापी कर लिया और कापी करके लोगो को 500-1000 रुपये में बेचना शुरु कर दिया । इसने 100-200 लोगों को बेचने के लिये सम्पर्क किया जिसमें काफी लोगों ने जानकारी प्राप्त की इसने आनलाईन यह साफ्टवेयर एक व्यक्ति को 500 रुपये में बेचा भी और उसके बाद अनूज विश्वकर्मा एवं शैलेन्द्र चतुवेदी के कम्प्युटर को अपग्रेड किया। जो पुर्व में बन्द हो चुके थे। जिसमे साई कम्प्यूटर का नामांकन कार्य क्रैक्ड साफ्टवेयर के कारण दुबारा चलने लगा। परन्तु रामचन्द्र का कम्प्यूटर कतिपय कारण से नही चल सका। इसी प्रकार क्रैक्ड साफ्टवेयर का इस्तेमाल करके विभिन्न क्षेत्रों में अनाधिकृत तरीके से आधार नामांकर कर रहे है। इसमें कई आधार नामांकन एजेन्सीयों के लिप्त होने की आशंका है। जिसकी जांच जारी है।

इन सभी अभियुक्तो को गिरफ्तार किया गया है इनके पास से साफ्टवेयर और साफ्टवेयर फाईल अपग्रेडेशन आदि बरामद किया गया है ।

गिरफ्तार अभियुक्तगण

1-आनन्द सिंह पुत्र सुरेन्द्र सिंह सा0 पिपनार थाना मरदह जनपद गाजीपुर

2- शैलेन्द्र चतुवेदी पुत्र भोलानाथ चौबे सा0 नरवर थाना मरदह जनपद गाजीपुर

3-अनूज विश्वकर्मा पुत्र सुरेश विश्वकर्मा सा0 नरवर थाना मरदह जनपद गाजीपुर

4- रामचन्द्र यादव पुत्र रामदरश यादव सा0 पिपनार थाना मरदह जनपद गाजीपुर

5- अरविन्द मौर्य पुत्र रामउजागीर सा0 जलालाबाद थाना कैण्ट जनपद फैजाबाद

6- अविनाश केशरवानी पुत्र रामबाबू केशरवानी सा0 चरवा थाना चरवा जनपद कौशाम्बी

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *