नईदिल्ली:-स्वागत के लिए दरवाजे पर खड़े दूल्हे को देखते ही दुल्हन ने पटक दी थाली, फिर…

:-नई दिल्ली: हमारे समाज में सांवली लड़कियों से लड़कों को शादी के लिए मना करना आम बात है, लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद में बिल्कुल उलट मामला सामने आया है. यहां पूरे धूमधाम के साथ बारात लेकर पहुंचे दूल्हे को देखते ही दुल्हन नाराज हो गई और उसने शादी से मना कर दिया. वहां मौजूद लोगों ने दुल्हन का गुस्सा शांत कराने की कोशिश की तो उसने उस थाली को भी पटक दिया, जिसमें दूल्हे के स्वागत के लिए माला, चावल आदि सामान लेकर महिलाएं खड़ी थी. इस घटना के बाद शादी समारोह में गहमा गहमी शुरू हो गई. वर और वधू पक्ष के लोगों के बीच बातचीत शुरू हो गई. वर पक्ष के लोग जहां बेइज्जती का आरोप लगा रहे थे तो दुल्हन लगातार धोखे में रखने की बात कर रही थी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक फर्रुखाबाद जिले के जहानगंज के एक गांव की लड़की की शादी कन्नौज में रहने वाले लड़के के साथ तय हुई थी. गांव वालों के हवाले से स्थानीय अखबारों में दावा किया गया है कि लड़के कमाई अच्छी खासी है. शायद इन्हीं बातों को ध्यान में रखकर लड़की के पिता ने शादी तय की थी. शादी तय होने के बाद लड़की पक्ष के लोगों ने कई बार लड़के की तस्वीर मांगी, लेकिन उन्होंने नहीं दी.

इसी बातचीती के बीच शादी का दिन आ गया और दूल्हा पूरे धूमधाम के साथ बारात लेकर दुल्हन के पास पहुंच गया. दूल्हे के द्वारचार (स्वागत) का कार्यक्रम चल रहा था, तभी दुल्हन ने खिड़की से दूल्हे को देख लिया. बताया जा रहा है कि दूल्हे का रंग देखकर दुल्हन नाराज हो गई और वह द्वारचार की जगह पर पहुंचकर शादी से साफ मना कर दिया. घरवालों ने समझाने बुझाने की कोशिश की तो वह और भड़क गई. उसने वहां दूल्हे स्वागत के लिए पहुंची औरतों के हाथों से थालियां छीनकर पटक दिया.

दुल्हन के ऐसा करने पर दुल्हा पक्ष के लोग भी नाराज हो गए. गांव वालों की दखल के बाद दोनों पक्षों के बीच कई दौर तक समझाने-बुझाने का प्रयास किया गया, लेकिन दुल्हन ने शादी से साफ मना कर दिया.

दूल्हा पक्ष के लोग इस बात पर अड़ गए कि वे बिना दुल्हन यहां से नहीं लौटेंगे. इसके बाद गांव वालों ने दूसरी लड़की को शादी के लिए तैयार कर लिया. आखिरकार दूल्हा दूसरी लड़की के साथ शादी करके वहां से लौट गया. मौके पर पहुंची पुलिस ने भी दोनों पक्षों के बीच झगड़ा शांत कराने में भूमिका निभाई और उनसे इस बात को आगे नहीं बढ़ाने का लिखित वादा लिया.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *