दिहाड़ी मजदूर का ये बेटा अब आइपीएल में सपना सच करने को तैयार

समय बीता, मेहनत रंग लाई और सामने आई एक प्रेरणा देने वाली कहानी।

चेन्नई, (प्रेट्र)। जब दिहाड़ी मजदूर राम सिंह यादव ने सालों पहले काम के चक्कर में उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से पलायन कर होसुर (तमिलनाडु) के लिए कदम बढ़ाए थे, तब बेटे संजय को क्रिकेट कोचिंग दिलाना उनके लिए सपने जैसा था। समय बीता, मेहनत रंग लाई और सामने आई एक प्रेरणा देने वाली कहानी।

– सच हुआ सपना

आज संजय यादव इस मुकाम पर पहुंच गए हैं कि वो कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) की जर्सी पहनेंगे और उन्हें ड्रेसिंग रूम में गौतम गंभीर और यूसुफ पठान जैसे कई दिग्गजों के साथ समय बिताने का मौका मिलेगा। संजय और उनके परिवार द्वारा किया गया सालों का संघर्ष आज उस मोड़ पर पहुंच चुका है जहां उनसे जुड़ा हर चेहरा गर्व महसूस कर रहा होगा। कोलकाता नाइट राइडर्स के इस नए खिलाड़ी ने अपनी खुशी जताते हुए कहा, ‘मुझे आइपीएल में चुने जाने की कोई उम्मीद नहीं थी। खासतौर पर इसलिए क्योंकि मैं तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन लीग (टीएनसीए लीग) की दूसरी डिवीजन टीम का ही हिस्सा था।’

– कोच प्रेमनाथ ने बदली जिंदगी

संजय यादव के दिल के सबसे करीब हैं फ्यूचर इंडिया क्रिकेट अकादमी के कोच प्रेमनाथ जिन्होंने उन्हें मुफ्त में क्रिकेट सिखाया। संजय के पास अकादमी की फीस के लिए पैसे नहीं होते थे लेकिन कोच प्रेमनाथ ने उन्हें बिना पैसे लिए क्रिकेट सिखाने का बीड़ा उठाया। कोच प्रेमनाथ कठिन समय में हमेशा संजय के साथ खड़े रहे जिसे संजय आज भी नहीं भूलते। संजय को खेल कोटे से प्रतिष्ठित लॉयला कॉलेज में जगह मिली और वो वहीं से ग्रेजुएशन कर रहे हैं।

– बाएं हाथ का धुरंधर खिलाड़ी 

संजय यादव एक बाएं हाथ के बल्लेबाज हैं और बाएं हाथ से स्पिन गेंदबाजी करने में भी सक्षम हैं। तमिलनाडु प्रीमियर लीग में वीबी थिरुवल्लुर वीरंस टीम से खेलते हुए उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया था। यही वजह रही कि पहले उन्हें तमिलनाडु की टी20 टीम में जगह मिली और फिर केकेआर ने उन्हें 10 लाख रुपये के अनुबंध के साथ अपनी टीम में शामिल किया।

– इन दो भारतीय धुरंधरों का फैन

संजय भारतीय क्रिकेट टीम में कप्तान विराट कोहली और स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के फैन हैं। इसके साथ-साथ उनका मन है कि आइपीएल के दौरान वो बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकिब-अल-हसन से भी कुछ सीख सकें। शाकिब भी बाएं हाथ के स्पिनर-ऑलराउंडर हैं और वो भी कोलकाता की टीम का हिस्सा हैं। इसके अलावा संजय वेस्टइंडीज और केकेआर के धुरंधर स्पिनर सुनील नरेन से भी सीखने के लिए उत्सुक हैं।

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *