उत्तर प्र्देश Board Result: भगवान की शरण में छात्र, इस तरह जांची गईं कॉपियां

उत्तर प्रदेश माध्‍यमिक शिक्षा परिषद 10वीं, 12वीं का रिजल्‍ट जल्‍द जारी होंगे. इससे पहले आज छात्र स्‍कूलों में और स्‍कूल के बाहर भी मंदिरों में भगवान के सामने हाथ जोड़े दिखे. सब यही प्रार्थना कर रहे हैं कि वे अच्‍छे नंबर्स से पास हो जाएं.

खास बात ये है कि इसमें स्‍टूडेंट्स के माता-पिता भी शामिल हैं. इन सबके बीच ये जानिए आखिर किन नियमों पर कॉपियां चेक की गई हैं.

ये है नया नियम 
खबरों के मुताबिक, अगर किसी आंसर शीट में 90 फीसदी से अधिक अंक आते हैं तो उसे डिप्‍टी हेड एग्‍जामिनर पुन: चेक करेंगे. राज्‍य के ज्‍यादातर छात्र इस नए नियम को एक्‍सपेप्‍ट नहीं कर पा रहे हैं. उनका कहना है कि इससे 90 प्रतिशत से अधिक अंक लाने वाले छात्रों का प्रतिशत कम होगा.

गौरतलब है कि इस बार यूपी बोर्ड ने कॉपियों को जांचने में सख्‍ती बरती है. बोर्ड ने इसी साल 27 अप्रैल से कॉपियों को जांचने का काम शुरू किया था. इसके लिए राज्‍य में 253 सेंटर्स बनाए गए थे. इस काम में कुल 1.37 लाख टीचर्स लगे.

क्‍यों हुई रिजल्‍ट में देरी 
गौरतलब है कि इस बार उत्‍तर प्रदेश में चुनाव के कारण परीक्षाएं देर से शुरू हुई थीं. यही वजह है कि रिजल्‍ट आने में भी देरी हुई.

ऐसे चेक करें रिजल्‍ट 
– बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट upresults.nic.in पर जाएं.
– रिजल्ट के लिंक पर क्लिक करें.
– रिजल्ट आपके सामने होगा. इसका प्रिंटआउट लेकर अपने पास रख लें.

बता दें कि इस बार करब 60 लाख छात्रों ने यूपी बोर्ड की परीक्षाएं दी हैं. 2016 में पास प्रतिशत 88.83 रहा था.

कब मिलेगी मार्कशीट 
रिजल्‍ट जारी किए जाने के 15 दिन के भीतर ऑरिज‍नल मार्कशीट और पासिंग सर्टिफिकेट जारी कर दिए जाएंगे.

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *